No One Has Ever Become Poor By Giving!

  • Phone:+91 9953659128
  • Email: info@muskanforall.com
Franchise Volunteer Donate Us

Blog Details

Beti Beto Se Badhkar, Aao Bachaye Ye Samaj Milkar

BETI BETO SE BADHKAR, AAO BACHAYE YE SAMAJ MILKAR

बेटी बेटों से बढ़कर, आओ बचाये ये समाज मिलकर
बेटियां हमेशा बेटों से आगे रहती हैं! आजकल की लड़कियाँ हर क्षेत्र में बेटो से बढ़कर हैं, बेटियां घरो में रौशनी लाती हैं! बेटा तो केवल एक कुल को रोशन करता हैं, परन्तु बेटियां दो कुलों को रोशन करती हैं, बेटियों का कभी भी निरादर नहीं करना चाहिए और कभी भी बेटों और बेटियों में फर्क करना चाहिए!क्योकि समाज को भी अब समझना होगा की बेटियां समाज के लिए कितनी आवश्यक हैं, हमें अपनी बेटियों को पढ़ा लिखाकर इतना काबिल बनाना चाहिए ताकि वह समाज में दूसरों पर बोझ न बन सके!

आज के समय में भी काफी परिवारों में बेटों और बेटियों में फर्क रखा जाता हैं! बहुत सारे परिवार अभी भी यही सोचते हैं कि बेटा ही वंश को आगे बढ़ाता हैं और परिवार की जिम्मेदारी भी बेटा ही निभाता हैं! परन्तु लोगो की यह सोच बिल्कुल गलत हैं, क्योकि आजकल की बेटियां तो बेटों से बढ़कर हैं और अपनी सम्पूर्ण जिम्मेदारी निभाती हैं! आज के समय में लड़कियां हर काम में सबसे आगे हैं! लोगो को बस अपनी सोच में बदलनी होगी, क्योकि अगर इस दुनिया में बेटियां ही नहीं होंगी तो वंश भी आगे नहीं बढ़ पाएगा! धीरेधीरे समाज में कुछ लोगो की सोच में परिवर्तन आना शुरू हुआ हैं! वह अपनी बेटियों को भी अपने बेटो के जितना ही प्यार करते हैं, उन्हें पढ़ाते लिखाते हैं, और अपनी बेटियों को इस लायक बनाते हैं कि उन्हें बेटो की कमी ही महसूस न हो! ऐसे लोग बेटियों के करियर में भी अपना पूरा योगदान देते हैं! अगर समाज का हर व्यक्ति इस तरह की सोच रखेगा तो एक दिन ऐसा भी आएगा जब देश में हर लड़की अपने आप को महफूज समझेगी!

बेटी बेटों से बढ़कर, आओ बचाये ये समाज मिलकर

बेटे से बढ़कर माता-पिता की सेवा करती हैं-
आज के समय में एक बेटा अपने माता-पिता की उतनी सेवा नहीं कर सकता जितनी एक बेटी कर सकती हैं और कर भी रही हैं! बेटियां शादी से पहले तो अपने माता-पिता की सेवा करती ही हैं परन्तु शादी के बाद भी उनकी सेवा करती है! अब वह वक्त बीत चूका हैं जब माता-पिता को बेटी बोझ लगने लगती थी! अब तो सच यह है कि पढ़ने लिखने के बाद आज लड़कियां अच्छी जॉब कर रही हैं और अपने माता-पिता का सहारा बनी हुई हैं!
कुछ ऐसे कारण जो हमे यह बताते हैं कि लड़कियां लड़को से आगे हैं-

1) लड़कियां लड़को की तुलना में बेहतर ग्रेड प्राप्त करती हैं-
आज के समय में लड़कियां लड़को की तुलना में पढ़ाई पर अधिक ध्यान देती हैं और अच्छे ग्रेड प्राप्त करती हैं! वे लड़को की तुलना में अधिक आत्म नियमन दिखाती हैं! वे नियमों का पालन करती हैं, विशिष्ट निर्देशों और विवरणों पर ध्यान भी देती हैं! लड़को की तुलना में लड़कियां हर क्षेत्र में जैसे कि पढ़ाई , इंटरनेट, खेल आदि सबमे सबसे आगे हैं!

2) लड़कियां गणित और विज्ञान में बेहतर हैं।
विज्ञानं और गणित को ऐसा विषय माना गया हैं जिसमें इंजीनियरिंग, रसायन विज्ञान आदि में लड़को से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद की जाती हैं! हालांकि,लड़कियां पढ़ने में लड़को से ज्यादा अच्छी होती हैं और उन्हें उच्च ग्रेड भी प्राप्त होते हैं. जिससे उन्हें विज्ञानं आदि के क्षेत्र में लड़को से पहले सीट मिल जाती हैं!

3) लड़कियां कम्प्यूटर के काम में भी सबसे आगे हैं!
आज के समय में लड़कियां कम्प्यूटर के क्षेत्र में भी सबसे आगे हैं! कंपनियों में लड़को की तुलना में लड़कियां ज्यादा काम कर रही हैं! लड़कियों को लड़को की तुलना में बेहतर कम्प्यूटर प्रोग्रामस के बारे में जानकारी हैं, जिन्होंने अपनी 3 डी भूमिका खेल खेल को डिजाइन करते हुए अधिक जटिल कोडिंग सिस्टम बनाया।

लड़कियां लड़को की तुलना में बेहतर ग्रेड प्राप्त करती हैं

4)लड़कियां नौकरी के साक्षात्कार के तनाव को बेहतर तरीके से संभाल सकती हैं।
लड़को की तुलना में लड़कियां नौकरी के साक्षात्कार के तनाव को बेहतर तरीके से संभालती हैं! लड़कियां जिस कंपनी में इंटरव्यू देने जाती हैं उस कंपनी के बारे में पहले से ही शोध कर लेती हैं और अंतिम दिन से पहले दोस्तों के साथ मॉक इंटरव्यू देकर खुद को बहतर तरीके से तैयार कर लेती हैं!

5) लड़कियां बेहतर बॉस और मैनेजर बनती हैं!
लड़कियां बॉस बनने पर बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं! लड़कियां काम को बहुत ही अच्छे तरीके से मैनेज कर लेती हैं! यह भावनाओं और बॉडी लैंग्वेज को समझने में सक्षम होती हैं और उन्हें तर्कसंगत विचारक और टीम समन्वयक बनाती हैं।

6) बेटियां अपने माता-पिता की ज्यादा देखभाल करती हैं!
आज के समय में लड़को की तुलना में लड़कियां अपने माता-पिता की ज्यादा सेवा करती हैं! लड़कियां हमेशा से अपने माता-पिता का सहारा बनती हैं! लड़कियां शादी के बाद भी अपने माता-पिता की चिंता करती हैं,उन्हें पूछती हैं, उनका ख्याल रखती हैं!

बेटियां अनमोल खजाना होती हैं!  
बेटियां अपने माता-पिता की आँखों का तारा होती हैं! बेटियां घर की रौनक होती हैं और अपने पापा की लाड़ली और परी होती हैं! बेटियों का अपने माता-पिता के साथ बहुत ही अटूट रिश्ता होता हैं, जिसे संसार में सबसे अनमोल रिश्ता माना जाता हैं! जब तक बेटी अपने बाबुल के घर में रहती हैं तब तक घर में रौनक, चहल-पहल रहती हैं, इसीलिए बेटियों को माता-पिता का अनमोल खजाना कहा जाता हैं! आज के समय के अनुसार लड़कियां समझ में भी, तरक्की में भी पढ़ाई -लिखाई, हिम्मत, सहनशीलता और ममता में भी हर काम करने में लड़कियां निपुण हैं!



जो काम एक बेटी अपने माता-पिता के लिए कर सकती है वो बेटा कभी भी नहीं कर सकता! एक बेटी के मन में अपने माता-पिता के लिए बहुत सारी भावनाये होती हैं जिसे कोई नहीं समझ सकता! बेटियों को अपने माता-पिता की खुशियों, उम्मीदों और भावनाओं की कदर होती हैं! लड़कियां हमेशा वही काम करती हैं  जिनसे उसके माता-पिता को ख़ुशी मिलती हैं! लड़कियां ससुराल में जाकर अपने माता-पिता द्वारा दिए गए संस्कारों से ससुराल की इज्जत का भी ध्यान रखती हैं!

एक लड़की ही नए परिवार में जाकर उसी के अनुसार खुद को ढाल सकती हैं! अपनी मीठी वाणी से दोनों घरों को जोड़े रखती हैं, इसीलिए तो एक पिता को अपनी बेटी पर हमेशा गर्व होता हैं! एक लड़की ससुराल जाकर भी अपने माता-पिता का ख्याल रखना नहीं भूलती! एक लड़की हमेशा अपने माता-पिता की सलामती मांगती हैं और लड़की के माता-पिता संसार में हमेशा गर्व से जीवन व्यतीत करते हैं!
एक बेटी को जो संस्कार बचपन में दिए जाते हैं उन्ही संस्कारों के साथ वह अपना पूरा जीवन व्यतीत करती हैं! इसीलिए कहते हैं कि लड़किया सब की प्यारी होती हैं! एक नाजुक काली की तरह होती हैं बस उन्हें संभाल कर रखने की जरूरत होती हैं ताकि वह अपनी खुशबु को हमेशा फैलाती रहे!

निष्कर्ष
हमारा भी फर्ज हैं कि हम भी लड़कियों का सम्मान करे, उनको हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें! जितनी ख़ुशी लड़का होने पर मनाई जाती हैं, उतनी ही ख़ुशी लड़की के पैदा होने पर भी मनानी चाहिए! लड़कियां हमेशा से लड़को से आगे रही हैं इसीलिए हमे उन्हें आगे बढ़ने अवसर प्रदान करने चाहिए! लड़कियों को जितना हो सके पढ़ाना चाहिए क्योकि एक दिन वही हमारे समाज का नाम रोशन करती हैं! माता-पिता को भी अपनी लड़की के साथ पक्षपात न करके आगे बढ़ने के मौका देना चाहिए! कुछ लोग लड़की होते ही या तो उसे फेंक देते हैं या मार देते हैं, उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए! हमे ऐसे समाज को बदलने की जरूरत हैं! क्योकि लड़कियां ही हमेशा से अपने परिवार का सहारा बनती हैं!