No One Has Ever Become Poor By Giving!

  • Phone:+91 9953659128
  • Email: info@muskanforall.com
Franchise Volunteer Donate Us

HUM PANI KA SANGRAKACHAN KAISE KAR SAKTE HAI

Hum Pani Ka Sangrakachan Kaise Kar Sakte Hai

HUM PANI KA SANGRAKACHAN KAISE KAR SAKTE HAI

हम पानी का संरक्षण कैसे कर सकते हैं?
जैसे कि कहा जाता है 'जल है तो कल है ", जल ही जीवन है , यह हम हमेशा ही सुनते आ रहे है, पर मानते नहीं। हम सब जानते है के पानी के बिना अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते लेकिन फिर भी हम इसे फ़िजूल में खर्च कर देते है। हमारी धरती के 70% भाग जल से डूबा हुआ है लेकिन 1-2 % ही इसमें से से उपयोग करने लायक है। हमें जल की बचत करनी बहुत जरूरत है , नहीं तो वो दिन दूर नहीं जब हम पानी की एक बूँद को तरसेंगे। पानी एक ऐसा धन है जिसकी हम कतर करेंगे तभी हमारी आने वाली पीढ़ी उसे उपयोग कर पायेगी।

पानी को बर्बाद करने से रोकने के लिए हम अपने घर से ही शुरुआत कर सकते है। बस थोड़े से कदम और समझदारी की जरूरत है , जिसके साथ हम अपने अपने वाली पीढ़ी को यह तोहफ़ा दे सके।

पानी बचत करने के तरीके :
1. नल को खुला न छोड़े - घरेलू काम जैसे दाढ़ी बनाते, दाँत साफ, स्नान करते, बर्तन और हाथ धोते समय नल बंद रखें। नहाते समय, साबुन लगाने के दौरान नल बंद रखें और उतनी ही देर नल खुला रखें जितनी देर पानी साबुन निकालने के लिए आवश्यक हो। नल बंद होते समय पानी का तापमान बदलने के लिए एक मुड़ने वाला वाल्व लें और उसे फव्वारा नल के पीछे लगा दें।ऐसा करने से हम 6 लीटर हर एक मिनट में पानी बचा सकते है।

2.नहाने के लिए शावर की जगह बाल्टी का उपयोग करें। अगर शावर उपयोग भी करें तो छोटे वाले लगायें, जिससे पानी की कम खपत हो। शावर का उपयोग ना करके हम 40-45 लीटर पानी हर 1 min में बचा सकते है। जहाँ कहीं भी नल लीक करे, उसे तुरंत ठीक करवाए. नहीं तो उसके नीचे बाल्टी या कटोरा रखें और फिर उस पानी का प्रयोग करें.लो पॉवर वाली वाशिंग मशीन उपयोग करें, इससे पानी की बचत होती है एवं बिजली भी कम लगती है।

3. जहाँ कहीं भी नल लीक करे, उसे तुरंत ठीक करवायें , नहीं तो  उसके नीचे बाल्टी या कटोरा रख दें और फिर उस पानी का उपयोग करें।

4. लो -पावर वाली वाशिंग मशीन का उपयोग का उपयोग करे, इससे पानी की बचत होती है एवं बिजली भी कम लगती हैवाशिंग मस्जीने में रोज़ रोज़ कपड़े धोने की जगह इक्कठे करके धोएं।

5. पौधों में पानी पाइप की जगह वाटर टैंक से डालें, इससे बहुत कम पानी का उपयोग होता है। पाइप से 1 घंटे में 1000 लीटर पानी तक उपयोग हो जाता है, जो पूरी तरह से पानी का नुकसान है।

6. घर घर में पानी का मिटेर लगवाएं। आप जितना पानी उपयोग करेंगे उसके हिसाब से उसका बिल आएगा। बिल देते आपको समाज आएगा कि अपने कितना बर्बाद किया और फिर आगे से ध्यान रखेंगे।

7. गीजर से गरम पानी निकालते समय उसमे पहले ठंडा पानी आता है जिसे हम फेंक देते है ऐसा न करके आप ठंडे पानी को अलग बाल्टी में भरें, फिर गरम पानी को दूसरे में। इस पानी को आप दूसरी जगह उपयोग कर सकते है।

8. फ्लश में भी बहुत अधिक पानी उपयोग होता है इस लिए ऐसा फ्लश लगवाएं जिसमे पानी का फ़ोर्स कम हो।

9. नालियां हमेशा साफ़ रखें, क्योंकि जब ये चौक हो जाती है तो साफ करने के लिए बहुत पानी उपयोग होता है, इस लिए पहले से ही साफ सफाई रखें।

10. पेड़ पौधे लगायें जिससे अच्छी बारिश हो और नदी नाले भर जाएँ।

उपसंहार
हमें जल ही हमेशा रक्षा करनी चाइये और दूसरों को भी प्रेरित करना चाहिए। मुस्कान एनजीओ संदेश देते है कि अगर हम इसकी रक्षा करेंगे तो हमारे से छोटे भी सीखेंगे। आजकल घरों के अंदर पानी आ जाता है, पानी की कीमत वो लोग समझते है जो 4 -5 km पैदल चलकर पानी भरने जाते है 1-2 बाल्टी के लिए उन्हें घंटो लाइन में खड़े होना पड़ता है। आज से ही हमें इसकी शुरुआत घर से करनी चाहिए, यह एक सामाजिक ज़िम्मेदारी है जो हम सब को साथ मिल कर उठानी चाइये।