No One Has Ever Become Poor By Giving!

  • Phone:+91 9953659128
  • Email: info@muskanforall.com
Franchise Volunteer Donate Us

JANGAL SE HAME KYA-KYA PRAPAT HOTA HAI

Jangal Se Hame Kya-Kya Prapat Hota Hai

JANGAL SE HAME KYA-KYA PRAPAT HOTA HAI

जंगल से हमें क्या क्या प्राप्त  होता है
जंगल धरती पर सदियों से हैं, तथा ये जंगल ही हैं जिनके कारण विश्व की जैव विविधता में निरंतरता बनी रहती है। किसी राष्ट्र में विद्यमान जंगल अथवा जंगल, उस राष्ट्र की न केवल आर्थिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक प्रगति में भी भागीदारी करते हैं। जंगल तथा जंगल आर्थिक विकास, जैव विविधता, मनुष्य की आजीविका, तथा पर्यावरणीय अनुकूल प्रतिक्रियाओं के लिए उपयोगी तथा आवश्यक होते हैं। बहुत लोगों की जिंदगी जंगल और वहां रहने वाले जीव जंतुओं पर निर्भर है. लेकिन जंगल की जरूरत हम सब को है. वह जैविक विविधता और पर्यावरण चक्र के लिए जरूरी है।

जंगल के लाभ
जंगल के कई लाभ है। पेड़ ही तो है जो वर्षा लाने में तथा बाढ़ रोकने में सहायक होते हैं। पेड़ों से प्रदूषण रोकने में भी मदद मिलती है। पेड़-पौधों के पत्तियों से हमें अच्छी खाद उपलब्ध होती है जो खेती के लिए बहुत उपयुक्त होती है। गर्मी में छाया तथा ठंडी हवा पेड़ प्रदान करते हैं। पेड़ों से हमें जी जंगल में उपयोगी कई तरह के पदार्थ मिलते है। जैसे दवाइयाँ, लकड़ी, फल और सब्ज़ियाँ, कागज़, इत्यादि। पेड़-पौधे सिर्फ मनुष्य के लिए ही नहीं अपितु छोटे जीवों तथा जानवरों के लिए भी उपयोगी है। चिड़िया पेड़ों पर अपना घोसला बनाती है और कहीं छोटे जीव इसमें अपना घर बनाते हैं। कई जानवर के लिए यह भोजन प्रदान करता है।

  हमें जीने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है ऑक्सीजन जो हमें पेड़-पौधों से ही मिलता है। जब हम सांस लेते है तो कार्बन डायऑक्साइड बाहर निकालते है, यह कार्बन डायऑक्साइड पेड़ शोषित कर लेते है और ऑक्सीजन प्रदान करते हैं जो हमारे जी जंगल के बहुत लिए जरूरी है। अगर पेड़ों की संख्या कम हो जाएगी, यदि जंगल नष्ट होने लगेंगे तो वातावरण में कार्बन डायऑक्साइड का प्रमाण बढ़ने लगेगा जो सभी मनुष्य प्राणी तथा जीव-जंतु के लिए हानिकारक है। इसी लिए ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाकर वनों का संरक्षण करना अतिआवश्यक है।

  वृक्ष वातावरण की वायु को शुद्ध करके हानिकारक तत्वों को मनुष्य के शरीर में प्रवेश करने से रोकते हैं । दिन के समय यह स्वयं कार्बन डाई ऑक्साइड को ग्रहण करके प्रकाश संश्लेषण की क्रिया करते हैं, तथा ऑक्सीजन को वातावरण में छोड़ते हैं। विभिन्न प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए वृक्षों से उपयोगी पदार्थ को निकाला जाता है। इसके अलावा वृक्ष तथा वन हमेशा से एक आकर्षण का केंद्र बने रहे हैं। ये देश विदेश से अनेक पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।

वृक्ष नदी-तालाबों से जल-वाष्पन के ज़रिया संघनन की प्रक्रिया के पश्चात् वर्षा करवाने के लिए भी उत्तरदायी होते हैं। वृक्षों का उपयोग बहुत अधिक मात्रा में औषधि के लिए शोध एवं फार्मास्यूटिकल कार्यों के लिए किया जाता है।जिससे देश के आर्थिक विकास में सहायता प्राप्त होती है एवं अन्य देशों में भारत की साख भी मजबूत होती हैं। परंतु, जिस गति से वृक्षों का कटान निरंतर चल रहा है, इससे शीघ्र ही सभी वृक्ष एवं वन समाप्ति की कगार पर आ पहुँचेंगे।

निष्कर्ष
मुस्कान एनजीओ सन्देश देते है मनुष्यों को वृक्षों की महत्ता समझने की जरुरत है। उन्हें ये समझना होगा कि वृक्ष हैं तो जीवन है, वृक्ष नही तो कुछ भी नही। वृक्षो की उपयोगिता न सिर्फ दैनिक जीवन, बल्कि प्रति पल, न सिर्फ निचले स्तर पर, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय एवं वैश्विक स्तर पर है। जंगल वातावरण का एक जरुरी हिस्सा है।  हालांकि दुर्भाग्य से मनुष्य अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए पेड़ों को काट रहा हैं जिससे पारिस्थितिक संतुलन बिगड़ रहा है। पेड़ों और जंगलों को बचाने की आवश्यकता को और अधिक गंभीरता से लिया जाना चाहिए।इस प्रकार वनों को संरक्षित किया जाना चाहिए। वनों की कटाई एक वैश्विक मुद्दा है और इस मुद्दे को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी उपाय किए जाने चाहिए। इस प्रकार जंगलों को बचाना चाहिए। जंगलो की कटाई एक वैश्विक मुद्दा है और इस मुद्दे को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी उपाय किए जाने चाहिए।

Enquiry Form