No One Has Ever Become Poor By Giving!

  • Phone:+91 9953659128
  • Email: info@muskanforall.com
Franchise Volunteer Donate Us

KIS PRAKAR SARKAR MAHILA SASHAKTIKARAN PAR KAM KAR RAHI HAI ?

Kis Prakar Sarkar Mahila Sashaktikaran Par Kam Kar Rahi Hai

KIS PRAKAR SARKAR MAHILA SASHAKTIKARAN PAR KAM KAR RAHI HAI ?

किस प्रकार सरकार महिला सशक्तिकरण पर काम कर रही हैं !
सरकार के द्वारा महिला सशक्तिकरण के मिशन के तहत कई प्रोग्रामों को मंजूरी दी गयी थी और साथ में ही '' महिला शक्ति केंद्र" के नाम से एक योजना भी शुरू की गयी थी जिसके तहत गांव की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए काम किया जाएगा!

सरकार द्वारा भारत में '' बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ " स्कीम को भी मंजूरी दी गयी है और 161 जिलों में इस स्किम को मंजूरी मिल गयी हैं और यह फैसला लिया गया हैं कि इन योजनाओं के लिए वित्त वर्ष 2017-18 और 2019-20 के लिए वित्तीय सहयोग 3,636.85 करोड़ रुपये रखा गया है और इसमें केंद्र की भागीदारी 3,084.96 करोड़ रुपये की है! निम्न प्रकार से सरकार महिला सशक्तिकरण पर कार्य कर रही हैं:-

1)महिला शक्ति केंद्र   
इस नई योजना के अनुसार महिला शक्ति केंद्र अलग-अलग स्तर पर काम करती हैं जिसके तहत  राज्य स्तर पर महिलाओं को संसाधन सहयोग और केंद्रीय स्तर पर नॉलेज सपोर्ट मुहैया किया जायगा। इसके साथ-साथ राज्य स्तर, जिला स्तर और ब्लॉक स्तर पर भी महिलाओं से सम्बंधित मुद्दों को लेकर महिला शक्ति केंद्र को सहयोग दिया जाएगा.

2)
जागरूक करना
महिला शक्ति केंद्र का दूर-दूर तक के इलाकों में प्रचार करने के लिए छात्रों को भी इससे जोड़ा जायगा और ब्लॉक स्तर पर होने वाली यह गतिविधि देश के 115 से भी ज्यादा दूर-दूर की जिलों में आयोजित की जाएगी! जितनी ज्यादा छात्र इस स्कीम के बारे में जागरूकता फैलाएंगे उतना ही इसके साथ जुड़ कर अहम भूमिका निभा पाएंगे!

3)
3 लाख छात्रों का जुड़ना
इस स्कीम के साथ 3 लाख से भी ज्यादा छात्रों को जोड़ा जायगा ! इसके साथ-साथ एनएसएस और एनसीसी के छात्रों को भी इस काम से जोड़ा जाएगा. जो छात्र महिला शक्ति केंद्र और महिलाओं से जुड़े मुद्दों को लेकर जागरूकता फैलाने में मदद कर रहे हैं उन्हें समाज सेवा के लिए प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा.

4)
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का दायरा बढ़ेगा
इसके अनुसार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं का दायरा भी बढ़ाया जायगा और 640 जिलों में मीडिया कैंपेंन चलाए जाएंगे और इसके साथ-साथ 405 से ज्यादा जिलों में भी अलग-अलग सेक्टर के हिसाब से इसका दायरा बढ़ाने पर काम होगा.

5)
190 होस्टेल खोले जाएंगे
सरकार द्वारा कामकाजी महिलाओं को सहयोग देने के लिए 190 से भी ज्यादा होस्टेल खोले जाएंगे और इन हॉस्टल में 19 हजार से भी ज्यादा महिलाओं के रहने का प्रबंध हैं और इसके साथ-साथ कई और सुधार गृह भी बनाए जाने की भी मंजूरी दे दी गई है! इन सुधार गृहों में 26000 लाभार्थ‍िंयों को फायदा मिलेगा.

6)
खुलेंगे वन स्टॉप सेंटर
जो महिलाएं हिंसा की शिकार होती हैं उन महिलाओं के लिए 'वन स्टॉप सेंटर्स' भी खोले जाएंगे.और इनकी स्थापना 150 से भी ज्यादा जिलों में की जायगी तथा इन केंद्रों को महिला हेल्पलाइन के साथ जोड़ा जायगा और इस सेण्टर की सुविधा महिलाओं को 24 घंटे प्राप्त होगी! राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की तरफ से महिला पुलिस स्वयंसेवियों की भागीदारी बढ़ाई जाएगी. इसके इलावा किये गए कामों पर नजर रखने के लिए एक टास्क फ़ोर्स भी बनाई जायगी जो इन सभी स्किम पर अपनी नजर बनाये रखेगी!

निष्कर्ष
अंत में हम यही कह सकते हैं कि सरकार द्वारा लिए गए सभी कानूनों का हमे पालन करना चाहिए! सरकार ने महिला शक्ति केंद्र के साथ सभी जिलों के छात्रों को भी जोड़ा है ताकि वह आने वाले समय में वह महिलाओं के खिलाफ हो रह अत्याचारों पर आवाज उठा सके और उनका भी भविष्य सुधर सके! इस कमा के लिए मुस्कान एनजीओ हमारी बहुत ही मदद कर रही है! वह भी लोगो को जागरूक करने के बहुत प्रयास कर रही हैं! ताकि हमारा देश भी विकास कर सके!
 

Enquiry Form