No One Has Ever Become Poor By Giving!

  • Phone:+91 9953659128
  • Email: info@muskanforall.com
Franchise Volunteer Donate Us

PEDO SE HAME KYA-KYA PRAPAT HOTA HAI

Pedo Se Hame Kya-Kya Prapat Hota Hai

PEDO SE HAME KYA-KYA PRAPAT HOTA HAI

पेड़ों से हमें क्या क्या प्राप्त होता है
पेड़ हमारे जीवन दाता होते है। यह हमें जीवित रहने के लिए उपयोगी ऑक्सीजन प्रदान करते है और पर्यावरण के लिए हानिकारक कार्बन डाई ऑक्साइड को अपने भीतर समा लेते हैं। पेड़ पौधे मनुष्य और पशुओं के भोजन का भी प्रमुख साधन है। पेड़ हमें छाया देते है और हमारी वायु को शुद्धता प्रदान करते है। धरती पर जीवित रहने के लिए पेड़ो का होना आवश्यक है जिससे कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाएगी और साँस लेना मुश्किल हो जाएगा।

पेड़ पौधों को काटने के कारण
आजकल मनुष्य अपने रहने सहने और उद्योग आदि लगाने के लिए पेड़ो को काटता जा रहा है। गाँवों में बहुत से लोग आज भी चुल्हे पर खाना बनाते है जिसके लिए लकड़ी का प्रयोग किया जाता है जो कि पेड़ों से प्राप्त होती है। कागज़ बनाने के लिए भी रोज़ाना बहुत सारे पेड़ों को काटा जाता है। कई बार पूल आदि बनाने के लिए भी रास्ते में आने वाले पेड़ों को काटा जाता है। पेड़ो की कटाई से बहुत सारे जीवों की प्रजातियाँ भी लुप्त होती जा रही है।
इसके अलावा नगरों, महानगरों, यहाँ तक कि कस्बों और देहातों तक में छोटे-बड़े उद्योग- धन्धों की बाढ़ सी आ रही है । उनसे धुआँ, तरह-तरह की विषैली गैसें आदि निकल कर पर्यावरण में भर जाते हैं । पेड़-पौधे उन विषैली गैसों को तो वायुमंडल और वातावरण में घुलने से रोक कर पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाया ही करते हैं, राख और रेत आदि के कणों को भी ऊपर जाने से रोकते हैं ।

पेड़ो के लाभ
पेड़ हमारे जीवन की मूल आवश्यकता ऑक्सीजन हमें प्रदान करते हैं। पेड़ बहुत से वन्य जीवों का घर है। पशु पक्षी और मनुष्य भोजन के लिए पेड़ पौधों पर ही निर्भर है। पेड़ हमारे वातावरण को शुद्ध रखने का भी कार्य करते हैं। पेड़ों से ही हमें ईंधन प्राप्त होता है। पेड़ बहुत से लोगों की आजीविका का साधन है क्योंकि बहुत से उद्योग पेड़ो पर निर्भर करते है। पेड़ मिट्टी को मजबूरी से पकड़ कर रखते है और बाढ़ आने पर उसे बहने से रोकते है।

पेड़ो को बचाने की जरूरत
अगर जीवन चाहिए तो पेड़ पौधों को बचाईए। अगर हम पेड़ो को यूहीँ काटते रहेंगे तो हमारा जीवन संकट में पड़ जाएगा। जंगल की जो भोजन क्रिया शैली है वह भी अव्यवस्थित हो जाएगी। अगर तुम वन्य जीवों से उनका घर छीनोंगे तो वह तुम्हारे घरों में घुस आऐंगे और मानव भक्षी बन जाएँगे। पेड़ पौधों के साथ हमारा गहरा सम्बन्ध है. हमारी भूख को पेड़ पौधों के उत्पाद फल अनाज दाल सब्ज़ियाँ ही शांत करते हैं. हम एक छायादार वृक्ष लगाकर हजारों लोगों और कई पीढ़ियों को शीतल छाया का सुख देकर पुण्य कमा सकते हैं. यदि हम पेड़ लगाएंगे तभी हमारी जीवन खुशहाल बन पाएगा तथा अपने जीवन की रक्षा कर सकेंगे.

निष्कर्ष
आज वह समय आ गया है जब पेड़ों को बचाने के लिए चिपको आंदोलन शुरू किये गए थे। क्योंकि शहरीकरण और बड़े-बड़े हाईवे बनाने के लिए पेड़ों को काटा जा रहा है लेकिन उनको फिर से लगाया नहीं जा रहा है। कुछ लालची लोगों द्वारा वनों की अंधाधुंध कटाई की जा रही है लेकिन सरकार द्वारा कुछ भी नहीं किया जा रहा है। हमारी सरकार नहीं पेड़ों को बचाने के लिए कई वन रक्षकों की नियुक्ति की है लेकिन वे भी थोड़े से लालच के चलते पेड़ों को काटने में सहयोग कर रहे है। इसके कारण पृथ्वी का पूरा वातावरण प्रभावित हो रहा है अगर यूं ही चलता रहा तो आने वाले कुछ ही वर्षों में पीने के लिए जल की कमी और खाने के लिए खाद्य पदार्थ की कमी हो जाएगी साथ ही जीवन के लिए सबसे महत्वपूर्ण स्वच्छ हवा की भी कमी हो जाएगी
 
 

Enquiry Form