No One Has Ever Become Poor By Giving!

  • Phone:+91 9953659128
  • Email: info@muskanforall.com
Franchise Volunteer Donate Us

PRADUSHAN SE BACHANE KE SAMADHAN

Pradushan Se bachane Ke Samadhan

PRADUSHAN SE BACHANE KE SAMADHAN

प्रदूषण से बचने के समाधान  
पर्यावरण में दूषक पदार्थों के प्रवेश के कारण प्राकृतिक संतुलन में पैदा होने वाले दोष को प्रदूषण कहते हैं। प्रदूषण का अर्थ है - अवांछित द्रव्यों से 'हवा, पानी, मिट्टी आदि का दूषित होना'! जिसका सजीवों पर प्रत्यक्ष रूप से विपरीत प्रभाव पड़ता है तथा पारिस्थितिक तंत्र को अप्रत्यक्ष रूप से नुक्सान पहुँचता हैं! वायु प्रदूषण का मुख्य कारण मीलों से निकलने वाला धुआँ होता हैं ! सड़कों पर चलने वाली गाड़ियों में जलने वाला ईंधन भी वायु को दूषित करता हैं! इसीलिए वायु में बहुत सी गैंसे मिली होती हैं, और फिर यही गैंसे सांस लेते समय हमारे शरीर में प्रवेश करती हैं, जिससे हमारे स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर पड़ता हैं! पानी का प्रदूषण भी मुख्य रूप से फैक्टरियों से निकलने वाले पदार्थों और मनुष्यों के मल-मूत्रों से होता है। बड़े-बड़े शहरों के गंदे नालों का पानी नदियों में आ मिटा हैं, जिससे पानी दूषित हो जाता है। और यही पानी पीने से हमारे शरीर में अनेकों रोगों का आक्रमण होता है। हजारों प्रकार के रसायन और कीटाणु विनाशक औषधियों के छिड़काव से जमीन का प्रदूषण होता है। बढ़ती हुई आबादी के कारण लोगों द्वारा व्यर्थ के पदार्थ गलियों और सड़कों पर फेंक दिए जाते हैं, वह हजारों प्रकार के रोग फैलाने वाले कीटाणु पैदा होते हैं। सड़कों के किनारे लगे कूड़े-करकट के ढेर अनेकों रोगों को जन्म देते हैं। हमें इन सभी प्रकार के प्रदूषण से बचना चाहिए!

प्रदूषण से बचने के समाधान इस प्रकार हैं;
1)आजकल बाजार में बहुत तरीके के एंटी-पल्यूशन मास्क और एयर-प्यूरीफ़ाइंग मशीनें उपलब्ध हैं! जिसका इस्तेमाल करने से हम अपने आप को स्वस्थ रख सकते हैं और हमारे घर का भी वातावरण शुद्ध रह सकता हैं!

2)
वायु प्रदूषण से बचने के लिए एंटी-पल्यूशन मास्क सबसे बेहतरीन उपाय हैं, क्योकि यह जहरीली हवाओं को शरीर के अंदर जाने से रोकता हैं! ऐसे में सस्ते मास्क को खरीदने की जगह ऐसे मास्क को खरीदना चाहिए, जिसमें कार्बन फ़िल्टर लेयर हो और जिससे नाक, मुँह और चेहरे को अच्छी तरह से ढका जा सके!

3)
जितना हो सके हमें पानी पीना चाहिए और बच्चों को भी पिलाना चाहिए, क्योकि पानी पीने से शरीर के अंदर से सारे विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं!

4)
इम्यून सिस्टम का सेहत पर काफी असर पड़ता है| यह शरीर को कई तरह के बीमारियों से बचाता है। ऐसे में मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए आप अपने डाइट में अखरोट, बींस, ब्रोक्कोली इत्यादि आहार शामिल करना चाहिए क्योकि इनसे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में काफ़ी मदद मिलती हैं। बच्चों का इम्यून सिस्टम बड़ों के अपेक्षा कमजोर होता हैं इसलिए बच्चों की डाइट में ऐसे आहारो को जरूर शामिल करना चाहिए!

5)
कृषि कार्यों में आवश्यकता से अधिक उर्वरकों एवं कीटनाशकों का प्रयोग किया जाता हैं, जहां तक हो सके हमें इनका प्रयोग कम करना चाहिए!

6)
नदियों और तालाबों में पशुओं के स्नान पर रोक लगानी चाहिए और जल स्रोतों के आस-पास उद्योगों को भी स्थापित होने नहीं देना चाहिए! अगर किसी जगह पर पहले से ही जल स्रोत उद्योगों के पास स्थापित हैं तो उनके अपशिष्ट जल को जल स्त्रोतों में विसर्जित होने से रोकना चाहिए!

7)
कूड़े-कचरे को इधर-उधर सड़कों पर नहीं फेकना चाहिए ताकि भूमि प्रदूषण को खत्म किया जा सके! कूड़े को सड़कों पर फेंकने से आस-पास हमेशा गंदगी ही रहती हैं और अनेक तरह की बीमारियां भी लग जाती हैं, इससे वायु भी अशुद्ध होती हैं!

निष्कर्ष
मुस्कान एनजीओ के द्वारा प्रदूषण के कारणों, दुष्प्रभावों एवं रोकथाम की विधियों के बारे में लोगो के मन में जागरूकता बढ़ाई जाती हैं, ताकि लोग इन सब बातों को समझ कर पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचा सके और हमारा देश साफ़ और स्वच्छ रहे! अगर आप भी इस एनजीओ के साथ जुड़ना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट पर जाकर हमसे बातचित कर सकते हैं!